ब्रेकिंग न्यूज़

नरभक्षी नजीम को सजा-ए-मौत


नजीम 
विनय सक्सेना
पीलीभीत: प्रथम अपर न्यायाधीश एस के शुक्ला ने एक साल पहले 6 बर्ष के मासूम मो. मुबिस के हत्यारे नजीम को मौत को सजा सुनाई है. इस एतिहासिक फैसले के साथ ही उस पर पच्चीस हजार रुपये का जुर्माना भी ठोका. ज्ञात हो 21 फरवरी 2017 को अमरिया में मासूम बच्चे मो. मुबिश की नाजिम मियाँ ने हत्या कर दी थी. पुलिस ने उसे मुबिश का मांस खाते हुए गिरफ्तार किया था.
क्या था मामला
21 फ़रवरी 2017 को उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में दिल दहलाने देने वाली घटना सामने आयी. जहाँ नजीम मियां (30) नाम का शख्स एक बच्चे को मारकर उसका मांस खाते हुए पकड़ा गया. इस घटना के प्रकश में आने के बाद से पूरे इलाके में दहशत फैल गई. जानकारी के मुताबिक अमरिया गांव में मोहम्मद नईम का 6 साल के बेटा मुबिश घर के बाहर से गायब हो गया. कुछ देर बाद उसी मुहल्ले की रहने वाली तारा ने देखा कि उसका छोटा बेटा नजीम किसी बच्चे के पेट से मांस निकालकर खा रहा है. उस बच्चे के हाथ-पैर और सिर कटे हुए पड़े थे, पास में ही एक फावड़ा और छूरा भी पड़ा हुआ था. 
अपने छोटे बेटे की ऐसी बर्बरता को देख उसकी चीख निकल गई और भागकर वह पूरी बात सबको बताने लगी. देखते ही देखते वहां गांव वाले इकट्ठा हो गए और नजीम को धर दबोचा. इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी और एसपी सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए. गुस्साई भीड़ मौके पर ही नजीम को मार डालने पर आमादा थी. लेकिन मामले की नजाकत देख पुलिस उसे तुरंत थाने ले आई. बताया गया कि नजीम चरस और अफीम का नशा करता है. पूरा परिवार उससे परेशान है. इस घटना के बाद उसके परिजन गांव से फरार हो गए हो गए. ग्रामीणों ने बताया कि नजीम नशा बेचने का धंधा भी करता है. उसका पूरा परिवार झगड़ालू किस्म का है और कोई उनसे बात भी नहीं करता. इतना ही नहीं एक दिन पहले ही नजीम ने अपनी मां पर भी छूरे से हमला कर दिया था लेकिन उसके दो भाइयों ने उसे बचा लिया।